नर्मदा खतरे के निशान से तीन मीटर ऊपर, राजघाट पुल जलमग्न, निचली बस्तियों में घुसा पानी

0
150

इंदौर। नर्मदा के बढ़ते जलस्तर ने धार और बड़वानी में लोगों की सांसे फुला दी है। नर्मदा नदी खतरे के निशान से तीन मीटर ऊपर बह रही है। इसके चलते सरदार सरोवर बांध का पानी लगातार निचली बस्तियों में घुस गया है, धार के निसरपुर की कुछ बस्तियां तो डूबने की स्थिति में आ गई हैं। हालात को देखते हुए कलेक्टर और एसपी सुबह से ही मौके पर मौजूद हैं आैर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए तैयार कर रहे हैं। वहीं बड़वानी में राजघाट स्थित ब्रिज जलमग्न हो गया है। यहां एसडीएम महेश कुमार भी डूब प्रभावितों को यहां से हटाने में लगे हुए हैं। दूसरी ओर एनडीआरएफ की टीम हालात का लगातार जायजा ले रही है।
124 से बढ़कर 127 मीटर पहुंचा पानी
नर्मदा नदी का जलस्तर 124 से उचलकर 127 मीटर हो गया है, जो कि खतरे के निशान से तीन मीटर ज्यादा है। पानी के बढ़ने से यहां अफरा-तफरी को माहौल है। निसरपुर पुल पूरी तरह से जलमग्न हो गया है। धार कलेक्टर श्रीमन शुक्ला और एसपी वीरेन्द्रसिंह सुबह से यहां डटे हुए है और डूब प्रभावितों को पुर्नवास स्थल पर जाने का आग्रह कर रहे हैं। बढ़ते बैक वाटर के कारण प्रशासन ने राहत एवं बचाव दल को तैयार रहने को कहा है।
अपर कलेक्टर डीके नागेंद्रसिंह के अनुसार प्रभावित क्षेत्र पर पूरी नजर रखी जा रही है। एनडीआरएफ और राजस्व तथा पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को हर स्थिति से निपटने के निर्देश दिए गए हैं। एनडीआरएफ कमांडर बुद्धराम देवासी ने बताया कि चार टीमें क्षेत्र में तैनात है। बड़वानी में सौंदूल गांव में नर्मदा किनारे स्थित शिव मंदिर, अंबे माता का मंदिर व आश्रम जलमग्न होने की कगार पर हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here