#Congratulations INDORE इंदौर ने लगाई स्वच्छता की हैट्रिक, फिर बना है नंबर 1

0
193

इंदौर। आखिरकार स्वच्छता में सिरमौर इंदौर शहर ने तीसरी बार देश में स्वच्छता का परचम लहराने में सफलता हासिल कर ली है। स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में भी इंदौर लगातार तीसरी बार स्वच्छता अवॉर्ड हासिल करने के लिए रैकिंग में पहले नंबर पर आ सकता है। स्वच्छता को लेकर प्रदेश के तीन बड़े शहर इंदौर, उज्जैन और भोपाल फिर देश में मान बढ़ाएंगे। स्वच्छता में की गई नवाचारी पहल क चलते इंदौर लगातार तीसरी बार नंबर वन बनने की पूरी संभावना है। इंदौर ने विभिन्न मापदंडों पर बेहतर रैङ्क्षकग हासिल की है। इसी आधार पर शहर देशभर में अव्वल रहेगा। बताया जा रहा है कि 6 मार्च को होने वाली स्वच्छता अवॉर्ड सेरेमनी में प्रदेश को तीन अवॉर्ड मिलने जा रहे हैं। इससे पहला अवॉर्ड इंदौर को मिलने जा रहा है। उज्जैन की रैङ्क्षकग भी बेहतर हो सकती है, जबकि भोपाल के भी टॉप फाइव में बने रहने की पूरी संभावना है। मालूम हो इस बार स्टार रैङ्क्षकग से नंबर वन का फैसला होगा।

  • शहरी विकास मंत्रालय द्वारा देशभर के शहरों के बीच स्वच्छता को लेकर प्रतिस्पर्धात्मक माहौल बनाते हुए स्वच्छता सर्वेक्षण करवाया था। इसके परिणाम 6 मार्च को दिल्ली में घोषित किए जाएंगे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इंदोर फिर से नंबर वन का खिताब हासिल करने में कामयाब हो गया है।
  • समारोह में 12 प्रसिडेंशियल अवॉर्ड दिए जाएंगे। इसमें से 3 प्रदेश के हिस्से में आए हैं। पुरस्कार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा दिए जाएंगे। समारोह के दूसरे चरण में शहरी विकास राज्य मंत्री हरदीपसिंह पुरी और सचिव दुर्गाशंकर मिश्रा शहरों को पुरस्कृत करेंगे। पुरस्कारों के लिए प्रदेश सरकार के पास विभिन्न शहरों के लिए बुलावा आया है। प्रेसिडेंशियल अवॉर्ड के लिए 5 लोगों के नाम मांगे गए हैं।
  • इंदौर को 4, उज्जैन को 3 व भोपाल को 1 कैटेगिरी में पुरस्कार मिलने की संभावना है। प्रदेश सरकार ने इस बार पुरस्कार लेने के लिए नगर निगम के महापौर, निगमायुक्त के साथ नेता प्रतिपक्ष को भी भेजने का निर्णय लिया है। जबकि नगर पालिकाओं में अध्यक्ष, सीएमओ व उपाध्यक्ष को भेजा जाएगा। जनसंख्या के आधार पर 1 से 5, 6 से 10 और 10 लाख से ऊपर वाले शहरों के बीच सर्वेक्षण किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here