पालक संघ मध्यप्रदेश ने फीस नियंत्रण अधिनियम में संशोधन करने वाली सपाक्स को दिया समर्थन ।

0
132

बढ़ती हुई फीस से हर पालक परेशान है और भाजपा सरकार और कांग्रेस से उम्मीद लगाए बैठे थे | कि वो फीस को लेकर गुजरात के मॉडल जैसा बिल पास करेगी या सरकारी स्कूलों में दिल्ली जैसी सुविधाएं देगी | पर दोनों ही पार्टियों ने निराश किया और पालकों की अनदेखी की । पालक संघ मध्यप्रदेश के सुनील खण्डेलवाल ने कहा कि वर्तमान में अनियंत्रित फीस देने के बाद भी बच्चो की सुरक्षा सम्बंधी कोई जवाबदारी स्कूलो की तय नही है और न ही प्रदेश सरकार ने उसको लेकर कोई नियम बनाये है न ही अपने घोषणा पत्रों में कुछ लिखा है | क्योकि भाजपा और कांग्रेस के नेताओ ने पालकों को शोषित करने वाले बड़े – बड़े स्कूल खोल रखे है | जिनमे पालक लाखो की फीस देते है पर सुविधायों और सुरक्षा के नाम पर शून्य व्यवस्था है | इंदौर में ही हम दिल दहला देने वाला डीपीएस स्कूल बस दुर्घटना देख चुके है | जिसमे लाखो की फीस भरने वाले पालकों के बच्चे लापरवाही का शिकार हुए और समय से पहले ही दिवंगत हो गए | उन्हें आज भी न्याय नही मिला है | पूरे प्रदेश में केवल सपाक्स पार्टी ने ही फीस नियंत्रण अधिनियम में संशोधन करने और अच्छा बिल लाने की बात अपने घोषणा पत्र में कही है | इसीलिए इस बार के चुनावों में सभी पालक निजी स्कूलों में व्यवस्थाओं और नियमो सुधारो के लिये सपाक्स पार्टी को मतदान करेंगे । पालक संघ मध्यप्रदेश के संजय मिश्रा ने कहा कि सपाक्स पार्टी ने कहा है की वो सरकारी स्कूलों की सुविधाओं को निजी स्कूलों के समकक्ष बनाएगी जिससे कि पालकों का आर्थिक शोषण न हो और बच्चो को अच्छी पढ़ाई मिल सके ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here