उरी देखकर खुद को बताने लगा मेजर और करने लगा ये गलत काम

0
67

इंदौर. इंदौर क्राइम ब्रांच ने एक आरोपी को अपनी गिरफ्त में लिया है। वह खुद को सेना का अफसर बताकर लोगों से ठगी करता था। उसका असली नाम तो शुभाकांत चतुर्वेदी है, लेकिन वह खुद को दुनिया के सामने उरी फिल्म के मेजर विहान सिंह के तौर पर पेश करता था। ऐसा झांसा देकर उसने कई लड़कियों को भी फंसा लिया था और उनसे दोस्ती कर ली थी। इन लड़कियों में कई डॉक्टर, इंजीनियर और प्रोफेशनल्स शामिल हैं। आरोपी मूल रूप से अशोक नगर का रहने वाला है। वह बीएससी का छात्र है।
डॉक्टर को सस्ती बुलेट दिलाने के नाम पर ठगा
अपनी इसी झूठी शान के दम पर उसने कई लोगों को भी ठगा। इसमें अरबिंदो हॉस्पिटल के एक डॉक्टर भी शामिल है। उनसे इस फर्जी मेजर ने सेना की कैंटीन से सस्ती बुलेट दिलाने के नाम पर पैसे ले लिए थे। इसी डॉक्टर ने फर्जी मेजर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। इसके बाद से क्राइम ब्रांच उसकी तलाश कर रही थी। आज इसे पुलिस ने दबोच लिया। आरोपी कॉल सेंटर में नौकरी करता था। आरोपी मेजर की ड्रेस पहनकर लोगों से मिलता था। उसने बताया कि वह एनसीसी में था। उसे लोग फौजी-फौजी कहकर चिढ़ाते थे। एक बार फौजी बनकर किसी से पैसे मांगे तो उसने दे दिए। इसके बाद से ठगी का सिलसिला शुरू कर दिया।
लड़कियों का पता लगा रही पुलिस
बताया जा रहा है ऐसी जानकारी सामने आ रही कि सेना की कैंटीन से सस्ता सामान दिलाने के नाम पर फर्जी मेजर ने दो दर्जन से ज्यादा लोगों को ठगा है। फिलहाल पुलिस इससे पूछताछ कर रही है। वहीं पुलिस अब उन लड़कियों का भी पता लगाने की कोशिश कर रही है, जिसे इसने उरी फिल्म का हवाला देकर दोस्ती की थी। उसका कहना है कि जिन लड़कियों से उसने दोस्ती की थी वह उसके लुक को देखकर उसे उरी फिल्म का हीरो बोलती थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here