अब टीपू सुल्तान के खिलाफ बीजेपी ने खोला मोर्चा,बताया ‘हिंदू विरोधी’ शासक

0
142

मैसूर. कर्नाटक में टीपू सुल्तान की जयंती मनाने पर फिर विवाद हो गया है। केंद्रीय कौशल विकास राज्य मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने न सिर्फ कार्यक्रम में शामिल होने से इनकार कर दिया है बल्कि कर्नाटक सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखकर इस आयोजन में उन्हें शामिल नहीं करने को कहा है। इसके साथ ही हेगड़े ने टीपू सुल्तान को बर्बर, निरंकुश और मास रेपिस्ट करार दिया है। हेगड़े ने कर्नाटक के अधिकारियों को लिखे पत्र की कॉपी ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा है, ‘मैंने कर्नाटक सरकार को एक ऐसे बर्बर हत्यारे, कट्टरपंथी और मास रेपिस्ट का महिमामंडन के लिए आयोजित होने वाली जयंती कार्यक्रम में मुझे नहीं बुलाने के बारे में बता दिया है।”

हेगड़े के इस ट्वीट के बाद कर्नाटक का सियासी पारा चढ़ा हुआ है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने हेगड़े की आलोचना करते हुए कहा है कि केंद्रीय मंत्री होने के नाते उन्हें इस तरह की टिप्पणी और पत्र नहीं लिखना चाहिए था। उन्होंने बताया कि टीपू सुल्तान जयंती कार्यक्रम में राज्य के सभी मंत्रियों, केंद्रीय मंत्रियों और अन्य गणमान्यों को पत्र भेजा जाता है, समारोह में शामिल होना या न होना उनकी मर्जी पर निर्भर करता है। सीएम सिद्धारमैया ने कहा है कि इसे राजनीतिक मुद्दा नहीं बनाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ टीपू सुल्तान ने चार युद्ध लड़े थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here